Wednesday, May 23, 2012

MCK(S)-168 भाग्य की मार


Download 10MB
Download 43MB
भाग्य के मार
कहानी अमित गुप्ता जी क़ी, कहानी बहुत अच्छी है पर इसका क्या करूँ अभी कुछ दिन पहले ही मैंने मनोज कॉमिक्स क़ी ही "सबसे बड़ा मुर्ख " पढ़ी और सच मानिये ९०% कहानी वही है जो ये है. मुझे ये नहीं समझ आ रहा था क़ी मै कौन सी कहानी पढ़ रहा हूँ "सबसे बड़ा मुर्ख" या "भाग्य क़ी मार" दोनों कहानियों में थोडा फेरबदल करके कहानी को नया करने क़ी कोशिश क़ी गयी है जो क़ी बिलकुल भी काफी नहीं है. आज तो मुझे ये पता नहीं लग पा रहा है क़ी कौन सी कॉमिक्स किस कॉमिक्स क़ी नक़ल है पर ये तो तय है कि नक़ल तो है वैसे "सबसे बड़ा मुर्ख" पहले छापी होनी चाहिए . पर सही बात तो इस समय बता पाना मेरे लिए बहुत मुश्किल है.

No comments:

Post a Comment