Thursday, October 25, 2012

Prabhat Chitrakatha-405-Antrikh Ka Dadav

Download 35MB
  प्रभात कॉमिक्स-४०५-अन्तरिक्ष का दानव
 विज्ञानं कल्प कथाओं का एक अपना ही संसार होता है. और ये कथाएं अगर अन्तरिक्ष से सम्बंधित हो तो फिर उनका मज़ा अलग ही हो जाता है. अगर मै अपनी बात करूँ तो मुझे ये संसार जो की अपने संसार से अलग हो उसके बारे में जानने की हमेशा जिज्ञासा बनी रहती है. और कॉमिक्स की दुनियां ने भी इस अधभुत संसार को खूब भुनाया है. पर अगर सच्चे दिल से कहूँ तो ये काम नूतन कॉमिक्स से बेहतर किसी और प्रकाशन ने नहीं किया. चित्रभारती कथामाला में स्पेस स्टार में जरुर बहुत अच्छी कोशिश हुयी थी पर वो बहुत कम मात्रा में है. पर नूतन कॉमिक्स में तो इन कॉमिक्स की लिस्ट बहुत लम्बी है. और इनके प्रशिद्ध सुपर हीरो "मेघदूत" की तो सारी कॉमिक्स विज्ञानं कल्प कथाएं ही है और इसके अलावा भी बहुत कॉमिक्स नूतन कॉमिक्स और प्रभात कॉमिक्स ने छापी है जो की पूरी तरह से विज्ञानं कल्प कथाएं ही है . ये कॉमिक्स भी उन्ही सिरीज़ में से एक है और ये सिरीज़ थी विशाल-भारत सिरीज़. और इन सभी कहानियों को लिखा है योगेश मित्तल जी ने. मेघदूत की ८०% कॉमिक्स उनकी ही लिखी हुयी है और उसके अलावा भी बहुत कॉमिक्स उन्होंने विज्ञानं पर आधारित लिखी है. मुझे तो ये कॉमिक्स पढ़कर बहुत ही आनंद आया. ये कॉमिक्स पढ़कर आप भी अन्तरिक्ष की दुनियां में खो जायेंगे.
आप इस बेहतर कॉमिक्स का आनंद ले फिर मिलते है .............

6 comments: