Friday, June 13, 2014

Star Comics-01-Push Ki Raat


Download 10 MB
Download 45 MB
स्टार कॉमिक्स-०१-पूस की रात
 मुंशी प्रेमचंद जी ने जो लिख दिया है वो न उनसे पहले कोई लिख पाया है और न आगे कोई लिख पायेगा। उनकी कहानियों को कॉमिक्स का रूप दिया था स्टार कॉमिक्स ने और इस सीरीज़ में उन्होंने मेरी जानकारी में ४ कॉमिक्स निकली थी। १- पूस रात , २- ईदगाह ,३- बेटों वाली विधवा, ४-पंच परमेश्वर।
ये चारो कॉमिक्स मेरे पास है वैसे तो मैंने इनमे से तीन कॉमिक्स स्कैन और अपलोड किया है पर इस ब्लॉग पर सिर्फ एक कॉमिक्स एक कॉमिक्स पंच परमेश्वर ही मिल पायेगी और मेरे पास सोफ्टकॉपी भी नहीं है मैं उन्हें दुबारा स्कैन करूँगा।
अब बात इस कॉमिक्स की कर ली जाये हमारे हिंदी पंचांग के अनुसार पूस का महीना कड़ाके की ठण्ड का महीना होता है और एक गरीब किसान जिसका खेत ही उसके जीने का सहारा है। पर उसकी दो बड़ी परेशानी है की खेतों में रात में नील गह का खतरा है और अगर खेती को नुकशान होता है तो फिर भूखा रहना पड़ रहता है। फिर वो अपने कुत्ते के साथ भयंकर ठण्ड में खेत की रखवाली करनी पड़ रही थी
अब इसके आगे आप कहानी पढ़ कर ही जाने तो अच्छा होगा। फिर जल्दी ही नई कॉमिक्स के साथ दुबारा मिलते है मिलते है।

11 comments:

  1. Thanks for this comics Manoj Bhai ! But there is some short of missing about descriptions to the comics as we found in almost every uploads !

    ReplyDelete
  2. Bahut bahut shukriya Manoj Bhaiya

    ReplyDelete
  3. कॉमिक्स का विवरण देने के लिए धन्यवाद भाई | अब इस श्रृंखला के बाकि दो अन्य कॉमिक्स का इन्तेजार है |

    ReplyDelete
  4. Bahut dhanywad manoj brother. Kya apke paas 'Nanhe Samrat Comics Visheshank ' hai jisme comics ki history di hue thi, agar ho to plz upload kar dijiye.

    ReplyDelete
  5. 'Nanhe Samrat Comics Visheshank' ka cover ye raha....

    http://goo.gl/L6X47j

    ReplyDelete
  6. मनोज भाई ये कॉमिक बुक तो ठंड से ठिठुरती रात में आग की तपिश के जैसे हैं| पहले हाथ ताप लूं फिर बात करता हूँ|
    थैंक्स मनोज भाई|

    ReplyDelete
  7. I am Thinking of dumping my past-future scans here.
    All are wellcome...
    https://comicsnostalgia.wordpress.com/

    ReplyDelete
  8. free download raj comics on rajkicomics.blogspot.com
    and manoj comics on manojkicomics.blogspot.com

    ReplyDelete