Friday, July 7, 2017

Manoj Comics-982-Uncle Charli Aur Narbhakshi Vango


Download 10 MB
Download 34 MB
मनोज कॉमिक्स-९८२ - अंकल चार्ली और नरभक्षी वंगो
 मनोज कॉमिक्स की ये कुछ चुनिंदा कॉमिक्स में से है जो मुझे बिलकुल पसंद नहीं है। मुझे वो हीरो बिलकुल पसंद नहीं आता। जो कमजोर हो और बार-बार उसकी बेज्जती हो और वो मारा जाये। कॉमिक्स मैंने पढ़ा नहीं है। इसलिए कहानी के बारे में कुछ भी अंदाज़ा नहीं है। आप पढ़ कर देखे शायद आप को पसंद आये। सेट नंबर १५३ तक दूसरे ब्लॉग पर अपलोड कर दिया है आप जा कर वहां से डाउनलोड कर सकते है।
आज कल राज कॉमिक्स वाले बहुत कुछ करने का प्रयास कर रहे है और सच कहूं तो मैं दिल से चाहता हूँ कि वो इन सब में सफल हो। पर वो जिस तरह से हम सब अपलोडर तो अपशब्द कह रहे है वो दुख पहुंचाने वाला है। उनके अनुसार हम अपने ब्लॉग से लाखो रूपये महीने कमा रहे है। मै औरों का तो नहीं जनता पर मुझे अब तक इस ब्लॉग ने १ पैसे का भी फ़ायदा नहीं पहुंचाया है। ५ साल से तीन ब्लॉग रन करने के बाद भी ऐडसन ८० डॉलर दिखा रहा है और जब तक १०० डॉलर नहीं होते वो कोई पैसे नहीं देगा। और मै हर महीने सिर्फ नेट के ७०० रूपये दे देता हूँ। किसी को अगर मेरी बात पर भरोसा नहीं है तो मेरा मेल आई पासवर्ड लेकर देख सकता हैं। खैर मुझे ब्लॉग से पैसे कमाना न था न है न रहेगा। ऐड सिर्फ इसलिए डाल रखा है कि घर वालों को समझा सकू की इतना समय इन पर क्यों दे रहा हूँ। सच कहूं तो ये ब्लॉगर नहीं होते तो राज कॉमिक्स बंद हो गयी होती। इनकी अपलोड को देखकर ७० % कॉमिक्स प्रेमी दुबारा कॉमिक्स से जुड़े और कॉमिक्स की बिक्री बढ़ी। अगर मैंने नेट पर "मनोज कॉमिक्स मैडनेस" न ज्वाइन किया होता तो आज मेरे पास एक भी कॉमिक्स नहीं होती। मोहित राघव , अनुपम अग्रवाल के कारण ही मैंने कॉमिक्स को स्कैन करना शुरू किया। और जब मैंने स्कैनिंग शुरू की तो मेरे पास मनोज कॉमिक्स का ३०% कलेक्शन ही था। और ९९% कलेक्शन है। कितने ही उप्लोडेर के कारण ही जो कॉमिक्स मेरे कलेक्शन में नहीं था। उसे मै पढ़ सका। राज कॉमिक्स में ही योद्धा की आखरी ५ जर्नल कॉमिक्स नहीं है पर उनकी कहानी को मै किसी अप्लोडेर के कारण ही पढ़ पाया। आज उन सभी निस्वार्थ भाव से सेवा करने वालों को धूर्त और लालची कहा जा रहा है। अब जहाँ तक मनोज कॉमिक्स के अपलोडिंग का सवाल है वो तो पूरी मै अपलोड करूँगा ही चाहे कुछ भी हो जाए। मैंने संदीप गुप्ता जी से २०११ में बात की थी और उनको हमारे कॉमिक्स अपलोडिंग को लेकर कोई शिकायत नहीं थी। यहाँ तक जो कॉमिक्स कहीं नहीं मिलती उसे भी स्कैन करने में मदद करने का वादा किया था। अब राज कॉमिक्स के उनकी क्या बात हुयी है मै नहीं जनता। मुझे ये नहीं समझ आता ड्स DC और मार्वल जैसे बड़े पब्लिकेशन के सारी कॉमिक्स नेट पर अपलोड है फ्री में फिर भी उन्हें कोई प्रॉब्लम नहीं है। पर राज कॉमिक्स को कुछ ज्यादा परेशानी नहीं है। ये तो बात करने का भी पैसा चाहते है। पैसा-पैसा करते-करते साल में १० कॉमिक्स प्रिंट नहीं कर पाते। मजेदार बात है कि मेरे पास नागराज और ध्रव की सभी कॉमिक्स लगभव जितने रेट में प्रिंट हुयी है उन सब में है। एक-एक टाइटल के ५-५ कॉमिक्स होगी। फिर भी कॉमिक्स बिना मतलब कॉमिक्स राज कॉमिक्स से खरीद लेता हूँ। रीप्रिंट भी ले लेता हूँ होने के बाद भी। वो मुझे से कहते है कि उनको हमारे कारण आर्थिक हानि होती है। सर्प्रथम मैंने राज कॉमिक्स न के बराबर अपलोड की है। मेरे कारण उन्हें कभी कोई नुकशान नहीं हुआ है। आगे भी नहीं होगा। राज कॉमिक्स को आर्थिक हानि से बचाने के लिए और आर्थिक लाभ पहुंचाने का कुछ उपाय कर सकता हूँ अगर वो चाहे तो।
 १. मै कोई मोबाइल ऐप नहीं बनाऊंगा
 २. यदि राज कॉमिक्स वाले विंडो कॉमिक्स ऑप बनाते है और उस पर जो भी कॉमिक्स रिलीज़ करते है तो वो कॉमिक्स मै अपने ब्लॉग से हटा लूंगा।
 ३.यदि राज कॉमिक्स वाले चाहे तो मेरे ब्लॉग के सरे लिंक को डाउनलोड करके उसे अपने राज कॉमिक्स साइट पर अपलोड करके लिंक मुझे दे दें और उसकी प्राइज मेरे अनुसार रख ले, मै उन लिंक से अपने लिंक को बदल दूंगा। और जो भी प्राइज उन्हें मिलता है वो खुद रखे। मुझे उससे कुछ नहीं चाहिए। केवल हवा में बात नहीं चाहिए। हमने इतनी मेहनत की है और हम अपने सरे लिंक हटा लें और आप १० कॉमिक्स ऐप पर अपलोड करके बैठ जाएँ। तो हमारा बचपन तो ख़त्म हो जायेगा। आप तो पैसे कमाने के लिए भाग रहे है फ़ायदा नहीं हुवा तो ये प्रोजेक्ट भी ख़त्म कर देंगे। आप कॉमिक्स अपलोड करते जाएँ मै अपने ब्लॉग से उन कॉमिक्स के लिंक हटाता जाऊंगा।
 ४. जो कॉमिक्स आप को कहीं से न मिले मुझ से संपर्क करें मै आप को वो कॉमिक्स स्कैन कर के दे दूंगा। पर पहले आप काम तो करें।
 फिलहाल मैंने अपना पक्ष रख दिया है। बाकी जो होगा देखा जायेगा।

151 comments:

  1. Replies
    1. Main to wohi Baat kahunga.... Orignal frist time print hui comic ka aanand hi kuchh aur hai... Main kahani ke atirikt jo contents hum ne us me padhe un ki baat hi alag hai.. Agar sabhi prakashan apni comic ko us hi swroop me print karein ya digital version nikalein jaise ki unhone us ko pahli baar print kiya tha to ye ek antique item hongi...

      Delete
    2. Jaise ki uncle charli ki is book ke pages me mujhe sar chahiye, krookbond aur super boy aur doosri comic ke ad,

      Ek aur original comic ke liye dhanyawaad

      Delete
    3. Ek idea aur... Jaise kisi film ki making ki kahani judi hohoti hai, kaise film bani, film banate time kya hua, waise hi comic ke banane ki kahani compny share kare to kaisa rahe.... Magar ye to sapna hi hai... Shayad hi aisa ho....

      Delete
    4. @Mukesh ji
      ji original se bhetar kuch nahi aur to aur agar ye comics hard copy me print hon to log comics download karna waise hi kam kar denge
      Raj comics wale kuch nahi karenge inhe paisa chahiye inhe comics lovers ya comics se kuch lena dena hai hai

      Delete
    5. Main tu khair raj ya kisi bhi aur comic walo ka janta nahin, bt shayad un ki kuchh aur majburi ho.... Comic lover ya kahein comic crazy log wo hi hain jinhone apne bachpan me inhein padha hai... Hum aur aap jaise log... Baki new generation ke liye to manoranjan ke sadhan alag hi hain... Main kuchh din pahle ek book shop gaya, apne bete ko ek comi le kar di... Wahi maine diamond ki comics bhi dekhi... Kafi purani new print hui.. Hath me li panne palte bt spne aap ko us se jod nahin saka.. Jab ki net ki purani scan ki hui bahut pasand aati hai.. Aaj pata nahin new printed comic kitni bik pati ho... Compny ko apekshit profits mil pata hi... Ya phir un ke liye ye sirf ganne ki khoi jaise ho... Ras to nikal gaya hai nichod lo jitna aur ho sake... Sirf hum tum jaise purane comic premi hi hain jo itna sochte hai... Hamara sapna... Hamara pyar.. Shayad hi pura ho.. Agar maine kuchh galat likh diya hu to kshma...

      Delete
    6. This comment has been removed by the author.

      Delete
  2. मनोज भाई, गोली मारो राज वालों ko। ये साले एक नंबर के लालची हैं। इनके लालच के चलते अनुराग कश्यप भी अब डोगा पर बनने वाली मूवी से पीछे हट गया है।

    न केवल ये लालची हैं, बल्कि इन्हें व्यापर करना भी नहीं आता। कॉमिक्स को विदेशो में भी खूब चल रही है जबकि वहां भी टेक्नोलॉजी काफी एडवांस है, फिर भी वहां लोग कॉमिक्स पढ़ते hain. इसका जीता जगता प्रमाण है इन पर बनने वाली मूवीज, जैसे की spiderman, सुपरमैन, batman, ironman, thor, etc.

    इन लोगों ने शुरू में तो कॉमिक्स के चित्रों और डायलॉग्स में काफी ओरिजिनालिटी रखी थी लेकिन बाद में इन्होने विदेशी कॉमिक्स की नक़ल के चक्कर में क्वालिटी गिरा दी। ज़बरदस्ती डायलॉग्स फ़िल्मी अंदाज़ में और English में लिखने लगे। मैंने इन्हें एक बहुत बड़ा पॉइंटे ईमेल लिखा था जिस का इन्होने ैक्नोव्लेद्गेमेन्ट भी किया था लेकिन इन्होने मेरे सुझावों को अनसुना कर दिया।

    ये कंपनी तो बंद हुई समझो। अगर आप चाहो तो मैं उस ईमेल को आपको भेज सकता हूँ और आप इन लोगों को उसे फॉरवर्ड कर दें क्यूंकि आपका इनसे लिंक बना हुआ है। शायद आपकी बात सुन लें और अपनी बिगड़ती हुई कॉमिक्स क्वालिटी को सुधारें।

    वैसे आप अफीमीलाल-मशीनीलाल और डार्क-टेल्स की कॉमिक्स भी कृपा करके अपलोड करें। केवल यही कॉमिक्स पूरी तरह से उपलब्ध नहीं हैं।

    ReplyDelete
    Replies
    1. baat sahi hai aap ki. abhi inko lag raha hai ki blog par ham sab scan comics sale karke lakho kama rahe hai isliye daud kar aap bana dala. par ye kafi kharchila kaam hai aur lakho comics ko scan aur upload karna mazak nahi hai. aur inke fan limited hai. to hona inse kuch hai nahi par apne lalach ke chakkar me ye uploading ka kaam rok denge aur fir un comics ka kuch pata nahi chalega
      aap mujhe wo mail share kar sakte hai
      manojpnd77@gmail.com par

      Delete
  3. MANOJ BHAI ACHCHE LOGON KE SAATH ACHCHA HI HOTA HAI YA BAAT TO SAHI HAI KI RAJ COMIC PEHLE KI TULNA ME AB ACHCHI NAHIN AATI DUE TO NEGATIVE MARKET REPO LEKING WO 'DHURT' ' LALCHI' KISKO BOL RAHE HAI? AAPKO? AGAR LAAKHON KI AAMDANI BLOGGING SE HOTI TO APKO SCHOOL ME PADHANE KI KYA JAROORAT HOTI? AAP DHYAN MAT DO BHAI JO JAISA BOL RAHA HAI USI KO KAAM DEGA. WAISE V MAI AAPKE BLOG PE COMICS SE JYAADA JO AAP ^LIFE KE ANUBHAV' SHARE KARTE HO USKO PADHNE AATA HUN. UTTARNE DO NAA APP JANTA JAWAAB DE DEGI. HA HA HA HA

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks brother for supporting me
      achche ke sath hamesha achcha hota hai sahi hai par galat ke saath agar galat hone lage to log galat karna band kar den
      inko hard comics par focus karna chahiye isi se raj comics ka bhala hai. waise bhi log wahi comics softcopy me padhte hai to hard copy me unke pass nahi hoti

      Delete
  4. Bahut sare points daale aapne. Aaj ke liye ek hi point par focus Karuga :-)
    Aap ne likha aap ko kamzor heroes kabhi pasand nahi aye. Baat bilkul sahi. Iss baat par aap ke aur mere tastes kaafi milte bhi hain
    Magar aap duniya ko dekhe aur comics main bhi - Joh mudh jaate
    Hain( adopt karte hain) vohi survive karte hain. Udharein ke taur par Motu Patlu. Nagraj Dhruv Ram Rahim aur Raj aur Manoj ke baki sare heroes ek taraf aur Motu Patlu ek taraf. Kaun hit hain? Jab ye Lot Pot main chapti thi tab kya aapne ya Maine socha bhi tha ki ye itna bada aur popular character banega?

    ReplyDelete
    Replies
    1. Ya pichle csadi ke mahanayak Amitabh Bachchan ko hi dekh lijeye. Ye aap bhi jante hain aur main bhi jaana hu voh safalta ki kiss bulandio ko Chu chuke hain. Magar ek waqt aisa bhi aya jab unnhe parde par Shah Rukh ke saamne haath jodd kar maafi maangni padhi. Unhone ye Kia tabhi aaj bhi unki hasti hain varna voh bhi Rajesh Khanna ki tarah apni kothi main tanha rehe jate

      Delete
    2. mai to kab se link hatane ko taiyar hun par wo pahle unke window scan ya hard copy provide to karen. jo comics unke pass dono format me nahi hai unse unko kya problem
      rahi RC ki baat ko wo apna manoj comics ke saath huwa agreement show kyon nahi karte
      fir mai apne sare link unke website par unke price par sale karne ko taiyar hun to problem kya hai

      Delete
  5. भाई ये जो आप कर रहे हो कॉमिक को स्कैन कर के उसको बेच रहे हो, ये एक तरह से साइबर अपराध है, आपसे विनती है कि आप ये सभी लिंक जल्दी से जल्दी हटा दी।

    ReplyDelete
    Replies
    1. Inko lagta hai inhone bahut mehnat ki hai scan karke lekin shayad inko pata nahi ek comic banane ke peechhe 100 people ki mehnat hoti hai.
      Waise bhi ab manoj comics ko rc ne khareed liya.
      Agar sandeep ji ko uss time koi dikkat nahi thi toh ab naye malik rc ko dikkat hai. Moral grounds par inko links hata lene chahiye.

      Delete
    2. Apradh hai to legal action len in bakwas ka kya matlab hai meri id aur address puri tarah se sahi hai

      Delete
  6. Mitr rc shayad jyada sets nikaal paati agar log rc se purchase karte toh.
    Lekin hota kya hai.
    Ek aadmi ne comic khareedi , scan ki , net par upload kar di.
    1000 logo ne download ki.
    Agar ek comic 30 rs. Ki maane toh seedhe seedhe 30000 rs ka loss rc ko.
    Toh hum jyada ummeed kaise karen ke naye sets jyada aayein?

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप सही कह रहे हो रवि जी। इनको ये सब बन्द करना चाहिए, ये गलत है जो इनके द्वारा किया जा रहा है।

      Delete
    2. @RK brother mai RC upload nahi karta
      rahi manoj comics aur other publication ki baat to wo print nahi ho rahi hai isliye unhe scan karta hun aur age bhi karta rahunga.
      maine RC ko koi nuksaan nahi pahuchaya hai
      wo MC ke window format me provide karna suru kar den mai khud hi link hata lunga
      jumma jumma do comics wo bhi mobile aap par dali hai aur lage chillane
      manoj comics ke sath huyi agreement ke copy sarvjanik karna chahiye

      Delete
    3. आप की दलील में वजन नहीं है| राज कॉमिक्स वालों का जनाज़ा निकल चूका है (अब से कई वर्ष पहले). इस के उत्तरदायी वे स्वयं हैं. एक समय था जब हम सभी राज कॉमिक्स के फैन थे. उन्होंने नागराज, ध्रुव, डोगा, भेड़िया, तिरंगा, इत्यादि की शानदार कॉमिक्स निकली थी जिन में हमारी भारतीयता झलकती थी. कहानी ओरिजिनल होती थी. डायलॉग्स शुद्ध हिंदी में होते थे. सेट्स बहुत जल्दी-जल्दी आते थे (हर हफ्ते), हर सेट में कई-कई कॉमिक्स होती थी.खुद मैंने और मेरे दोस्तों ने राज कॉमिक्स का ही नहीं बल्कि और पब्लिशर्स का कॉमिक्स कलेक्शन एकत्र कर रखा था.

      लेकिन समय के साथ राज कॉमिक्स की क्वालिटी में भरी गिरावट आई. इन्होने डायलॉग्स में इंग्लिश घुसानी शुरू कर दी, शायद ये सोच कर की आजकल के बच्चे English स्कूल में पढ़ते हैं तो उन्हें इंग्लिश ज़्यादा आकर्षक लगेगी. घटिया कॉमिक्स हीरो बनाये, जैसे "सुपर इंडियन", इत्यादि. सच तो ये है की इनके पास अच्छे लेखक नहीं बचे तो ये अमेरिकन कॉमिक्स की नकल करने लगे लेकिन नक़ल करने में यह पब्लिक की मानसिकता को नहीं समझ पाए.

      अमेरिकन कॉमिक्स आज भी सक्सेसफुल हैं. लोग उनके कॉमिक्स खरीद कर पढ़ते हैं जबकि उनकी खूब piracy होती है. इससे ये सिद्ध होता है की अगर दुकानदार का माल बढ़िया हो तो लोग उसे खरीदेंगे ही.

      इसलिए राज कॉमिक्स वालों को मनोज भाई का पीछा छोड़ कर अपनी कॉमिक्स क्वालिटी और उसकी फ्रीक्वेंसी पर धयान देना चाहिए. वैसे भी मनोज भाई राज कॉमिक्स अपलोड नहीं करते और न ही वो ये काम व्यापर के लिए करते हैं.

      Delete
  7. भाई साहब आप कह रहे है की 30 या 35 साल पुरानी कॉमिक्स सहेजना चाहते है पर क्या उसकी कीमत नयी कॉमिक्स का आना बंद हो जाए है क्या आप समझिए कॉमिक्स बनाने वाले प्रॉफ़िट नहीं कमाएंगे तो वो नए सेट क्यू निकाले

    ReplyDelete
    Replies
    1. Sagar ji dhanyawaad yahan par comment karne ke liye
      pahli baat mai raj comics scan aur upload nahi karta to RC ke naye comics na aane ka karan mai nahi hun ulta unke nikale har comics even reprint bhi regular leta hun.
      manoj comics scan aur upload pichle 5 saal se kar raha hun jiska RC se koi lena dena nahi tha.abhi hai mujhe is par bhi doubt hai . agreement sarvjanik karen
      RC mere link ko apne RC website par daal kar usse paise kamaye mujhe koi problem nahi hai.par is tarah se link delete karna theek nahi hai.wo apne site par mere link daal kar mujhe naye link de den mai usse apne sare link badal dunga mehnat meri aur faida unka

      Delete
  8. आपकी बाते बताती है की आप भी कॉमिक्स के फ़ैन है तो आप राज कॉमिक्स को सपोर्ट करो भाई आखिर आपकी मेरी हम सबकी यही ख़्वाहिश होगी की कॉमिक्स आती रहे

    ReplyDelete
    Replies
    1. kar to raha tha support aur aaj bhi kar raha hun par samne wale ko samjh me aana chahiye

      Delete
  9. भाई साहब आप कह रहे है की 30 या 35 साल पुरानी कॉमिक्स सहेजना चाहते है पर क्या उसकी कीमत नयी कॉमिक्स का आना बंद हो जाए है क्या आप समझिए कॉमिक्स बनाने वाले प्रॉफ़िट नहीं कमाएंगे तो वो नए सेट क्यू निकाले

    आपकी बाते बताती है की आप भी कॉमिक्स के फ़ैन है तो आप राज कॉमिक्स को सपोर्ट करो भाई आखिर आपकी मेरी हम सबकी यही ख़्वाहिश होगी की कॉमिक्स आती रहे

    ReplyDelete
    Replies

    1. pahli baat mai raj comics scan aur upload nahi karta to RC ke naye comics na aane ka karan mai nahi hun ulta unke nikale har comics even reprint bhi regular leta hun.
      manoj comics scan aur upload pichle 5 saal se kar raha hun jiska RC se koi lena dena nahi tha.abhi hai mujhe is par bhi doubt hai . agreement sarvjanik karen
      RC mere link ko apne RC website par daal kar usse paise kamaye mujhe koi problem nahi hai.par is tarah se link delete karna theek nahi hai.wo apne site par mere link daal kar mujhe naye link de den mai usse apne sare link badal dunga mehnat meri aur faida unka

      Delete
  10. मनोज भाई में आपकी भावनाओं कि कद्र करता हुं। लेकीन आप समझने कि कोशिश करें अब तक मनोज कॉमिक्स के अधिकार खुले थे इसिलिए आपका कॉमिक स्केन करके अपलोड करना जायज़ था। अब राज कॉमिक्स ने अधिकार अपने पास सुरक्षित कर लिए है। नैतिकता के आधार पर अब इन कॉमिक्स पर आपका कोई अधिकार नहीं है। आप या तो अधिकार राज कॉमिक्स से मांग ले या फिर आलोड करना छोड दें। मुफ्तखोरों की बातों पर ध्यान ना दें। ये आपको निजि स्वार्थ के लिए भडकातें रहेंगे। मुसीबत आने पर कोई सामने नहीं आऐगा। तुरंत यह illegal काम बंद कर दें। इसमें आपका ही भला निहीत है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. सोलह आने खरी और सच्ची बात

      Delete
    2. brother wo adhikaar to sarvjanik karen
      aur jo legle action banta hai kyon nahi lete
      mujhe koi problem nahi hai
      ya fir wo comics wo reprint karen to link hata dunga ya fir wo window format me wo scan karen jo jo comics wo scan karke upload karte rahenge wo mai hatata rahunga
      bus yahi maine socha hai aur yahi karunga bhi

      Delete
    3. आप की दलील में वजन नहीं है| राज कॉमिक्स वालों का जनाज़ा निकल चूका है (अब से कई वर्ष पहले). इस के उत्तरदायी वे स्वयं हैं. एक समय था जब हम सभी राज कॉमिक्स के फैन थे. उन्होंने नागराज, ध्रुव, डोगा, भेड़िया, तिरंगा, इत्यादि की शानदार कॉमिक्स निकली थी जिन में हमारी भारतीयता झलकती थी. कहानी ओरिजिनल होती थी. डायलॉग्स शुद्ध हिंदी में होते थे. सेट्स बहुत जल्दी-जल्दी आते थे (हर हफ्ते), हर सेट में कई-कई कॉमिक्स होती थी.खुद मैंने और मेरे दोस्तों ने राज कॉमिक्स का ही नहीं बल्कि और पब्लिशर्स का कॉमिक्स कलेक्शन एकत्र कर रखा था.

      लेकिन समय के साथ राज कॉमिक्स की क्वालिटी में भरी गिरावट आई. इन्होने डायलॉग्स में इंग्लिश घुसानी शुरू कर दी, शायद ये सोच कर की आजकल के बच्चे English स्कूल में पढ़ते हैं तो उन्हें इंग्लिश ज़्यादा आकर्षक लगेगी. घटिया कॉमिक्स हीरो बनाये, जैसे "सुपर इंडियन", इत्यादि. सच तो ये है की इनके पास अच्छे लेखक नहीं बचे तो ये अमेरिकन कॉमिक्स की नकल करने लगे लेकिन नक़ल करने में यह पब्लिक की मानसिकता को नहीं समझ पाए.

      अमेरिकन कॉमिक्स आज भी सक्सेसफुल हैं. लोग उनके कॉमिक्स खरीद कर पढ़ते हैं जबकि उनकी खूब piracy होती है. इससे ये सिद्ध होता है की अगर दुकानदार का माल बढ़िया हो तो लोग उसे खरीदेंगे ही.

      इसलिए राज कॉमिक्स वालों को मनोज भाई का पीछा छोड़ कर अपनी कॉमिक्स क्वालिटी और उसकी फ्रीक्वेंसी पर धयान देना चाहिए. वैसे भी मनोज भाई राज कॉमिक्स अपलोड नहीं करते और न ही वो ये काम व्यापर के लिए करते हैं.

      Delete
    4. aap ka kahna sahi hai par samjhaya sirf use ja sakta haijo samjhne ko taiyar ho

      Delete
  11. RC lalchi ho chuki h? Unse khud ka Kam to hota nahi ab dusre publication Ko kharid kar paise banana chahte h. Main Rc ka fan hu Lekin jab unhone Vinod ji Ko Nikal Diya tha uske bad Maine Rc kharidni band kar di thi.Online comics bhi kharidi thi par usme page missing the , Maine complaint bhi ki aur Manoj Gupta ji Ko phone bhi Kiya par comics replace nahi Hui.Us din k bad Maine koi Rc nahi kharidi.Rc walon ne khud ki company to duba hi di ab Wo chahte h ki log other publication bhi na padhen.

    ReplyDelete
    Replies
    1. aap apni jahag bilkul sahi hai par ye sab hota hi hai jab koi bada kaam karta hai
      abhi sirf ek publication jinda hai filhaal nayi comics to kharidi ja sakti hai
      baki maine rc se hazaron comics kharidi hai aur mujhe aaj tak unse koi shikayat nahi hai, aap fir se baat karen wo badal di jani chahiye

      Delete
  12. Aapka dusra blog open kyon nahi ho Raha?

    ReplyDelete
    Replies
    1. blog private kar diya hai jise sirf mai aur mere kuch mitra hi access kar payenge,

      Delete
  13. Manoj bhaiya kal tak manoj comics blog open tha.. Aaj invite only mode me hai.. Please grant me the access. sanjiv.petro@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  14. manoj bhai apka dusra blog open nahi ho raha hai,invite accerss puch raha hai,pls grant me access,my email id.vikrant220@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  15. मनोज जी मैं आपके साथ हूँ । बस इतना ही कह सकता हूँ।

    ReplyDelete
  16. Manoj bhai main surf itana kahunga ki blog aapka hai aap use chahe jaise chalayen,aap apane dil ki aur hit ki baat ham San se behtar samjhate hain.

    Waise agar RC walon be San comics ke copyrights le hi liye hain then they should announce that, and also start providing their material to us. WO apne blog ya sites par San comics ki ek list Dalen with cover photos . or some other Details as Ad , so people can place order for their Desired Comics, so for RC WO comics unhen bhejen (Hard Copy or Soft Copy Depend on availability and feasibility by them.) @ Reasonable Price. Aur agar MC ke Rights and Material unke pas hain to won Manoj ke much adhure rage comics pure karwa den, such as Titans Supercity, Vinash Series aur bhi Jo baki log suggest Karen.

    ReplyDelete
    Replies
    1. ji karna to yahi chahiye par wo aisa karte hai ya nahi ye sirf wo hi samjh sakte hai

      Delete
  17. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  18. saari manoj comics ek torrent me daal dijiye, aur sabhi log "seed" karte rahenge, warna ye Raj waale na khud kuch publish karenge, na kisi aur ko preserve karne denge.

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother abhi ye option meri list me nahi hai par agar mujhe in upload ko bachahne ka koi tarika nahi mila to mai ye bhi karunga

      Delete
  19. Send me invite on jainabhi031@gmail.com plz....

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  20. MANOJ BHAI OTHER BLOG INVITE ONLY MODE PE HAI KINDLY SENT ME INVITE. SOO GRATEFUL TO YOU IN ADVANCE. MY EMAIL ID - ashutoshnarayan13@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  21. Legal, illegal ya copyright wali baat to sahi hai... Beshak comic hamara pyar ho lekin un ka to vyapaar hi hai.. Agar ek doosre ko samajh le to kitna achha ho...

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  22. Please send me your invite at satijaanil47@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  23. Manoj brother plz send your blog invitation to my email address kumardarshan009@gmail.com Thanks

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  24. Manoj brother plz send your blog invitation to my email address kumardarshan009@gmail.com Thanks

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  25. Dear sir plz also send invite link to me nt.ajaysahu@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  26. Dear sir please invite me rjrajan520@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  27. Manoj sir reply to kijiye plz....

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  28. Manoj sir reply to kijiye plz....

    ReplyDelete
  29. Dear sir plz also send invite link to me nt.ajaysahu@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  30. Dear Manoj Ji, Please send the invite link to me at rk732852@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  31. Dear Manoj, I request you to send an invitation at shrikant120190@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  32. Dear Manoj, I request you to send an invitation at epcosrk@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  33. Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  34. Bhai please sent link on atuljhunthra@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  35. Dear sir please provide link on gyanlok@india.com

    Thanks in advance

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  36. MANOJ BHAI OTHER BLOG is on INVITE ONLY MODE. KINDLY SEND ME THE INVITATION. SO GRATEFUL TO YOU IN ADVANCE. MY EMAIL ID - ishwar.singh@eil.co.in

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  37. Thanks for your great work, plz send me invitation in ur other blog,
    Raghav13444@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  38. Thanks for your great work, plz send me invitation in ur other blog,
    Raghav13444@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  39. Arey Manoj ji maximum sites ya blog pe to jo download links hain wo bilkul kam hi nahi karti. Ulta ant sant page pe le jati hain ya file deleted ya error aata hai. To internet pe to comics padhna kafi mushkil hai. Aur jb aap ye bida uthaye to aapki raj comics wale aalochana kar rahe. Ye bahut sharmanak hai. Main to kehta hun aap raj comics ke har patra ki sb ki sb comics dal dei scan kar ke. Es se un murkhon ka bhala hi hoga. Log yahan padh ke ruchi badhne ke bad hard copy kharidne ko tatpar to honge. Jald ais karein Mitra.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Mai janta hun yahi karan hai ki mere blog par faltu add nahi nahi aur link bhi mediafire hai hai jisse download karne me koi problem hi na ho

      Delete
  40. Manoj ji mujhe bhi link dein apni tamam websites aur sare blog ka taki main bhi purane dino mein laut sakun. Ab filhal time machine ke aane se pehle to apne bachpan mein aise hi pravesh karunga. Kindly send me an invitation on sumansaurabh04@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  41. Dear Manoj
    Because of u, memories of childhood come in front of my eyes, u did a great work, but plz take some precaution as Manoj comics buy by RC,

    I love ram Rahim, crookbond ,hawaldaar bahadur, and Raja Rani story of Manoj comics, hats off to u, really appreciate to u for ur hard work

    Plz also send me invitation so that I also can enjoy Manoj comics
    raghav13444@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies

    1. brother blog private hai mai aur mere kuch mitra hi ise access kar payenge

      Delete
  42. Manoj bhai very thanx to u..I hope the good work will continue in the future..There is a request from my side. I got the link of ur site nd blog from another website which has many links for such comics lover. There is a link which has the list of all publications nd publishers of comics till date. Its about 128. I want u to visit that link or u must have visited also. Now what I want to say that is it possible for u to find and upload all of those publishers and publications every single comics. IF POSSIBLE THEN IT WOULD BE JUST LIKE A WIKIPEDIA FOR COMICS LOVERS WHERE THEY WILL GET ALL THE COMICS WITH THEIR DOWNLOAD LINKS. I KNOW ITS A BIG ASK INFACT THE BIGGEST AND WILL REQUIRE A herculean EFFORT. BUT UR WILL POWER AND STRONG DETERMINATION TO DEFY ALL THE ODDS AND COME AT TOP IS PRETTY EVIDENT WITH THE WORK THAT U HAVE DONE. AND DONT' BOTHER ABOUT RAJ COMICS OWNER'S. Wo khud to kuch karenge nahi es industry ko bachane ko par haan jo ye bida uthayega uski taang jarur pakad ke pichhe khichenge. Aap jo ye karenge to aap dekhiyega ki aapko bharpur samarthan hi milega. Arey Sahi kam mein to parmatma bhi madad karte hain. Aap safar shuru to kijiye log judte chale jayenge aur karvan banta chala jayega. 😎😎😎😎

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother ye mere liye bhi impossible hai
      mere pass har print comics nahi hai mere pass raj manoj ki lagbhag sari comics hai

      Delete
    2. Manoj sir apse hath jodkar rqst krta hu ki aap raj comics ke comics ke link de dijiye plz sir apki bht bht mehrbani hoki plz sir. Main raj comics ka fan hu plz sir aap ya to mail pr dijiye ya kisi or madyam se plz sir plz plz plz

      Delete
  43. https://hindicomicsteams.blogspot.in/search/label/COMICS%20INFORMATION?m=1

    Ye link hai us site ka mitra. Aap shurvaat to kijiye comics judte chale jayenge aur manoranjan ka pustakalaya banta chala jayega.. Aur aapka nam HINDI COMICS KE KSHETRA MEIN SWARNIM AKSHARON MEIN LIKHA JAYEGA AAPKE ESKE ABHUTPURV, ATULANIYA, ADBHUT, AVISHMARINIYA PRAYAS KE LIYE. AANE WALI PIDHI INTERNET PE AAPKE JARIYE HI ES PUSTAKALAYA KA ANAND UTHA PAYEGI. 😎😎

    ReplyDelete
    Replies
    1. chahta to mai bhi yahi hun par mere liye ye impossible hai

      Delete
  44. http://anupam-agrawal.blogspot.in/2008/11/manoj-comics-characters-list.html?m=1


    Mitra Manoj above given is the link of probably the all the characters of Manoj comics. I hope u may get a bit of help , if not much to collect and upload all the comics of every single character of Manoj comics.

    ReplyDelete
    Replies
    1. manoj comics sari mere pass hai aur mai unhe upload kar dunga

      Delete
  45. Manoj bhai kya apke paas Anjan lok ka farishta aaditya ki aur comics hain??agar hain toh pls upload karen...vakayi hi dil ko chu lene vali saral kahaniyan hain...Thanks

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother jitni thi upload kar dii ab mere pass is ki comics nahi hai

      Delete
  46. नए सेट अपलोड होने से तो बेशक नुक्सान होता है लेकिन पुरानी कॉमिक्स जो उपलब्ध ही नहीं हो पाती उनसे तो नुक्सान नहीं हो सकता। अब फेसबुक पर कालाबाज़ारी में हज़ारों की कीमत रखते हैं कुछ लोग। कोई कैसे खरीद लेगा। आपने आज तक कोई नयी कॉमिक अपलोड नहीं की। पुरानी भी हटाने को तैयार हो अगर उपलब्धता हो जाये तो। आपने कुछ गलत नहीं किया भाई

    ReplyDelete
    Replies
    1. mai janata hun maine kuch bhi galat nahi kiya hai

      Delete
  47. Hello manoj
    Thanks for reply,
    It's OK if u make ur blog personal but I will really missed manoj comics, I missed the chance to download all Manoj comics, but gud u did great job. Feel jealous u have great collection and I can't access but it's OK,
    Thanks
    Good luck for ur future

    ReplyDelete
    Replies
    1. Brother mujhe contact karen 9919750880

      Delete
  48. Hello manoj
    Thanks for reply,
    It's OK if u make ur blog personal but I will really missed manoj comics, I missed the chance to download all Manoj comics, but gud u did great job. Feel jealous u have great collection and I can't access but it's OK,
    Thanks
    Good luck for ur future

    ReplyDelete
  49. मनोज जी आप बिलकुल सही कर रहे है। जो मित्र मनोज भाई को गलत कह रहे हैं उनके लिए कुछ प्रश्न हैं। कृपया उनके उत्तर उनके पास हो तो उनके जवाब जरूर दे,
    1 अगर राज ने मनोज कॉमिक के अधिकार लिए हैं तो उन्हें अपने ब्लॉग पर जरूर दिखाए। जिस तरह उन्होंने अपने fb पेज पर नूतन की पोस्ट की थी उसी तरह की पोस्ट मनोज के लिए क्यों नही की जबकि मनोज नूतन कॉमिक्स से हज़ार गुणा बड़ी ओर साख वाली कंपनी थी।

    2 जब जब rc को बताया गया कि उनकी शुरआती कॉमिक्स कई हज़ार में बिक रही है तो उन्होंने उसके रीप्रिंट उस समय नही करवाए। उस समय करवाते तो उन्हें कितना लाभ होता, पर नही वो तो बस काला बाज़ारी को बढ़ावा देते रहे।
    3, डोगा 11 की डिमांड पिछले 3 साल से हो रही है परंतु उन्होंने आज तक नही छापी। उन्हें अपने फैंस की कद्र नही है क्या। 2015 मैं संजय गुप्ता ने कहा था कि 2016 मै डोगा की ओर पुरानी कॉमिक रीप्रिंट करेंगे और हर महीने सेट निकालेंगे। अब तो 2017 भी खत्म होने वाला है परंतु ऐसा आज तक नही हुआ है।

    4, राज वाले अपने फैंस को धूर्त कह रहे है परंतु उनसे बाद धूर्त कोई और नही होगा। अपनी पुरानी कॉमिक्स पर 40, 60 की नई चेपियाँ लगा कर के 20 वाली कॉमिक बेच रहे है। अभी 4 पुरानी जनरल कॉमिक वो 75 में बेचेंगे।माना कि यह रेट कला बाजार के रेट से कम हैं परंतु क्या यह राज की मानसिकता को उजागर नही करती की उनका मुदा भी अब बस पैसा कमाना है।
    5, राज की मार्केटिंग टीम को भरोसा नही हैं कि वो 5000 कॉमिक्स भी बेच सके। उनके मैनेजमेंट को लगता हैं कि अब नए ग्राहक तो जुड़ेंगे नही तो जो अभी फैंस हैं उन्ही से पैसा कमाए जाएं। आप खुद ही बताए कि अगर कोई बच्चा अपने पेरेंट्स से कॉमिक लेने की जिद करे और उस पर रेट 120 rs लिखा हो तो कोई पेरेंट्स ले कर के देंगे। राज वाले अगर इस दिशा में काम नही करेंगे तो भूल जाओ की उन्हें कोई पड़ेगा।
    6। किसी भाई ने ऊपर सही लिखा है कि उनजे पास लेखक और आर्टिस्ट की कमी है। फ्री लांसर्स से काम करवा के ओर घटिया कहानियों की बदौलत कंपनी अधिक समय तक नही टिक सकती है।

    मनोज भाई आप जो कर रहे है वो सही कर रहे है। कोई नोटिस आए तो जरूर जवाब दे और नही आया हो तो उनपर मानहानि का दावा जरूर ठोक दे। जब वो अपने फैन्स की कद्र नही कर सकती तो उन्हें भी कोई कद्र नही मिलनी चाहिए। कई फँस आपके साथ है जिनमे से एक में भी हूँ।

    ReplyDelete
  50. मनोज जी आप बिलकुल सही कर रहे है। जो मित्र मनोज भाई को गलत कह रहे हैं उनके लिए कुछ प्रश्न हैं। कृपया उनके उत्तर उनके पास हो तो उनके जवाब जरूर दे,
    1 अगर राज ने मनोज कॉमिक के अधिकार लिए हैं तो उन्हें अपने ब्लॉग पर जरूर दिखाए। जिस तरह उन्होंने अपने fb पेज पर नूतन की पोस्ट की थी उसी तरह की पोस्ट मनोज के लिए क्यों नही की जबकि मनोज नूतन कॉमिक्स से हज़ार गुणा बड़ी ओर साख वाली कंपनी थी।

    2 जब जब rc को बताया गया कि उनकी शुरआती कॉमिक्स कई हज़ार में बिक रही है तो उन्होंने उसके रीप्रिंट उस समय नही करवाए। उस समय करवाते तो उन्हें कितना लाभ होता, पर नही वो तो बस काला बाज़ारी को बढ़ावा देते रहे।
    3, डोगा 11 की डिमांड पिछले 3 साल से हो रही है परंतु उन्होंने आज तक नही छापी। उन्हें अपने फैंस की कद्र नही है क्या। 2015 मैं संजय गुप्ता ने कहा था कि 2016 मै डोगा की ओर पुरानी कॉमिक रीप्रिंट करेंगे और हर महीने सेट निकालेंगे। अब तो 2017 भी खत्म होने वाला है परंतु ऐसा आज तक नही हुआ है।

    4, राज वाले अपने फैंस को धूर्त कह रहे है परंतु उनसे बाद धूर्त कोई और नही होगा। अपनी पुरानी कॉमिक्स पर 40, 60 की नई चेपियाँ लगा कर के 20 वाली कॉमिक बेच रहे है। अभी 4 पुरानी जनरल कॉमिक वो 75 में बेचेंगे।माना कि यह रेट कला बाजार के रेट से कम हैं परंतु क्या यह राज की मानसिकता को उजागर नही करती की उनका मुदा भी अब बस पैसा कमाना है।
    5, राज की मार्केटिंग टीम को भरोसा नही हैं कि वो 5000 कॉमिक्स भी बेच सके। उनके मैनेजमेंट को लगता हैं कि अब नए ग्राहक तो जुड़ेंगे नही तो जो अभी फैंस हैं उन्ही से पैसा कमाए जाएं। आप खुद ही बताए कि अगर कोई बच्चा अपने पेरेंट्स से कॉमिक लेने की जिद करे और उस पर रेट 120 rs लिखा हो तो कोई पेरेंट्स ले कर के देंगे। राज वाले अगर इस दिशा में काम नही करेंगे तो भूल जाओ की उन्हें कोई पड़ेगा।
    6। किसी भाई ने ऊपर सही लिखा है कि उनजे पास लेखक और आर्टिस्ट की कमी है। फ्री लांसर्स से काम करवा के ओर घटिया कहानियों की बदौलत कंपनी अधिक समय तक नही टिक सकती है।

    मनोज भाई आप जो कर रहे है वो सही कर रहे है। कोई नोटिस आए तो जरूर जवाब दे और नही आया हो तो उनपर मानहानि का दावा जरूर ठोक दे। जब वो अपने फैन्स की कद्र नही कर सकती तो उन्हें भी कोई कद्र नही मिलनी चाहिए। कई फँस आपके साथ है जिनमे से एक में भी हूँ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. सोलह आने खरी और सच्ची बात

      Delete
  51. Dear Frnd Manoj I am providing some links which might help u in finding all the characters of Raj Comics and their every single comics published till date. It includes active super heroes, inactive and those who have made a comeback after so many years. There are Kids characters too with.

    Link for active, inactive, and character making a come back after a long time and kids character:

    https://rajcomicsinfo.blogspot.in/2015/01/raj-comics-characters.html?m=1


    Link for Character Wise Raj Comics List in Sequence:


    https://rajcomicsinfo.blogspot.in/2015/01/character-wise-raj-comics-list-in.html?m=1

    ReplyDelete
  52. Dear Frnd Manoj ji I am unable to find the list of comics of some of the inactive heroes, kids character and heroes making a come back after a long time. Though am trying to get those too. And I hope u too will try to find those and ultimately it will be u only who will upload all those comics..THANX

    ReplyDelete
  53. A link for all the published comics of nagraj:

    http://indiancomicspitara.blogspot.in/2015/10/nagraj-all-published-comics-list-till.html?m=1

    ReplyDelete
  54. Manoj bhai kripya is blog par hi hamen kuch comics provide krte rahen agar dusra blog apke kuch friends k liye hi hai...Dhanyavaad

    ReplyDelete
    Replies
    1. manoj bhai my mail id is-vijender.thakur29@yahoo.com. Apka bohot dhanyawad

      Delete
  55. raj comics tumhara app kiss kaam ka nahi hai agar business Mai rehna hai to purane logo ko sath Mai rakh ke chalo jinhone tum logo ko bachaya hai
    Apni comics cbr format Mai do chahe har jagha watermark laga do tab dekho kaise bikegi comics.

    Pehle to khud Rcj walo se baat karte Thai fan interaction tab Kya woh dhurt makkar nahi thsi, Manoj comics to rcj walo bhi scan ki hai. Rcj walo ne raj comics bhi khub scan ki tab woh dhurt nahi thai ab sab dhurt makkar hai.
    Ye hai double standard anupam Sinha ko bolo retirement le le ab ya phir writer koi aur rakh lo dam nahi hai story Mai ab .

    ReplyDelete
    Replies
    1. सोलह आने खरी और सच्ची बात

      Delete
    2. sahi kaha stories bad se badtar hoti ja rahi hai.Pehle Orkut par Rcj fan club mai Sanjay Gupta ji aaye thai phir baad mai comics ke green page mai bhi Arjun Mediratta aur uski team ki khub tareef ki thi
      Kya who sab dikawah tha jo log aap logo se bachpan se jude huye hai jinhone aap logo ko punarjivit kiya in logo par aap log kanooni karvahi karte ho.
      Ye jamana free ka hai log movie to paise de kar dekhte nahi aap comics padhwa rahe hoo?
      aap sponser lao comics free mai doo har doosre page ke baad ad daal do aur printed comics decent rate par do tab aapki bikri kyun nahi hogi.

      aapko ek cheez aur bata deta hoo newspaper dusre desho mai jaise Sri lanka aur Pakistan etc mai 70 rs ka bikta hai aur India mai matra 5 rs ka aur woh bhi 25 ya 30 page wala source of revenue kya hota hai newspaper ka ?
      who hai ad aap ads laiye phir aapki comics apne aap sasti ho jayegi.

      Delete
  56. I am unable to read your uploaded manoj comics set wise a meddage comes that this blog is for invited readers so please ad me so that i can read these fabulous comics my email address is
    kashmohd@gmail.com

    ReplyDelete
  57. Mamnoj bhai,

    Mujhe bhi apne Manoj Comics wale blog par invite kar leejiye: zxcv.mnb007@gmail.com

    ReplyDelete
  58. Thoda wait karen mai blog public karne ja raha hun

    ReplyDelete
  59. Ab barbad ho gai raj comics, ye competition khatam karne ke chakkar mai apna hi nuksan kar rahe hai, rights to le li par comics nikalenge nahi, jo acchi kahaniya logo ko Manoj tulsi nutan ki purani comics pad ke multi thi woh bhi hata liya net se jisse log inki hi comics padhe,net par ab koi aur comics to dekhti nahi kyunki inhone hi sare link delete karwa liye aur ye chor chale hai comics bachane dhurt makkar ye raj comics wale.
    Jin logo ne collectors edition liya ab tak in sabko bhi thenga dikha diya, fans ki koi baat sunni hoti nahi karna apne Mann ka hi hai anginat part nikalte hai series ke aur phir bolte hai loss mai hai.
    Tum hamesha loss mai hi rahoge raj comics walo, apne aap ko beech to marvel ya dc ko shayad wahi tumhara beda paar kar de.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Brother mai bus intna kah sakta hun mai uploading continue rakhunga

      Delete
  60. manoj sir please lambu motu ki Dracula series ki comics hindi me dijiye sir,,

    ReplyDelete
  61. मनोज जी आप कृपया चिंतित ना हो ....ये कॉमिक्स वाले वैसे भी अपने खुद के कर्मो से मर रहे है और जिन्होंने दिल से इनके किरदारोंसे प्यार किया उन्हें भी मार्के की कोशिश कर रहे है | कृपया आप इनके दब्बव में ना आये | वो लोग इतना याद रखे की जितना दबाने की कोशिश करेंगे उतने ही संघर्ष के अलग रस्ते निर्माण होंगे |

    आपने ब्लॉग प्राइवेट कर दिया ये सुनके बहोत दुःख हुआ |

    हो सके तो मुझे शामिल कर लीजिये मेरा ईमेल है nishad4949@gmail.com

    ReplyDelete
  62. Hello sir
    Comics download nhi ho pa rhi ko I si bhi. Invite ka option aa rha and. Please mujhe invite kijiye. Mujhe hawaldar bahadur ki comics kitne sabse zyada zarurat hai.

    ReplyDelete
  63. Comics http://manojcomicspagalpan.blogspot.in se download krne ko invite maang rha Hai.. Please invite kijiye, baraye meharbani. Oldest comics aur kahin nhi million this mujhe

    ReplyDelete
  64. मनोज भाई , हम हमेशा आपके साथ है ...!!! बाकि कमेंट्स पढ़ रहा था कुछ हरामी लोग यहाँ पे कॉमिक प्रेमियों को और मनोज भाई को धमकी दे रहे है | सुन कर हसी आई ! उनके लिए एक सन्देश है , " जितनी links बंद करवानी है वो कर लो, एक links के बदले दस नयी लिंक एक्टिव कर दूंगा | मनोज भाई सामने आकर खुले में अपलोड कर रहे है इसलिए उनको धमका रहे हो ? कॉमिक्स इंडस्ट्री का जो बेडा गर्क आज भारत में हुआ है वो इन्ही भाड़-खाऊ लोगों के वजह से हुआ है ...इन लालची लोगों ने सोने के अंडे देनेवाली मुर्गी काट डाली , जब कुछ नहीं मिला तो अब जमीन पे डंडा पीट रहे है ........राज वालों, मनोज कॉमिक्स खरीद लो या डायमंड कॉमिक्स ...तुम्हारा कुछ नहीं होने वाला .....जो पुराने कॉमिक्स थे वही खरा सोना थे ..आज कुछ भी करोगे तो वो मिटटी ही कहलाएगी....पुराने वाले नए करके कितने दिन बेचोगे ?? ...कितना भी डंडा पीट लो तुम्हारा बेडा गर्क होने ही वाला है ......मनोज भाई को धमका कर चुप करा भी सकते हो तुम लोग, मेरे लिए क्या करोगे ? १ रात में ५० GB अपलोड करने की क्षमता रखता हूँ .....दस जगह अपलोड कर दूंगा .......जो उखाड़ना है वो उखाड़ लो ......जितना दबाओगे उतना ज्यादा नुकसान पाओगे. नया कुछ करनेकी तुम लोगों की औकात नहीं है ये अब हम जान चुके है|"

    ReplyDelete
    Replies
    1. सोलह आने खरी और सच्ची बात

      Delete
  65. So sad...koi bhi comic ka link kaam nai kar rha...even unka bhijinke rights raj comics k paas nai hain...Hadh ho gayi najayaz tang krne ki

    ReplyDelete
  66. Manoj sir m comica ka bht bda fan hu bt ab kisi b blog pr ye availble nhi h plz sir kuch kijiye hum jaise fan aap logo se hi ummid rkhte h sirplz maine apko mail kiya h sirho ske to invite kijiye or nyeblog ka naam dijiye sir plz plz plz plz sir.....

    ReplyDelete
  67. manoj bhai aap ka yogdan bhaut great hai mai aap ka post aur blog dono he follow karta hu ,plz mera email id bhi add kijiye ritz.don2008@gmail.com plz mujhe add ker li jiye mai aapka bhaut abhari rahuga aap ka shubh chintak ritesh

    ReplyDelete
  68. Phantom bhai aap aur manoj bhai jaise junooni aur diler log hon to hum comics premiyon ko jald hi comics yug ke swarnim din dekhne ko milenge. PHANTOM BHAI apni email i.d aur number dein taki comics premi aapse bhi jud sakein aur aapke pass jo sagar rupi comics ka bhandar hai usmein hum comics premi log dubki laga sakein.😎

    ReplyDelete
  69. बहोत से लोगों को files.fm से डाउनलोड करने में दिक्कत आ रही है | बहोत से लोग मनोज जी को इस प्रोब्लेम बारे में पूछ रहे है | सबके लिए उसका SOLUTION मै बताना चाहूँगा |
    *** अगर आपके ब्राउज़र में "AD-BLOCK" या "Pop-Up Blocker" चालू है तो फाइल डाउनलोड नहीं होगी | फाइल को डाउनलोड करनेके लिए पहले "AD-BLOCK" या "Pop-Up Blocker" को डिसएबल करें| फिर डाउनलोड करे|

    "AD-BLOCK" को पूरी तरह से बंद करने की आवश्यकता नहीं है |
    "Don't Run on Pages On This Domain" सिलेक्ट किया तो भी काम हो जायेगा

    ReplyDelete
  70. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  71. विश्व आतंकवाद के दुश्मन नागराज को भारती के साथ महानगर में बिठा दिया। शुक्र है कम से कम उसके हाथ में चूड़ियाँ नहीं पहनाई। नागराज की मौलिकता को नष्ट करके सब गुड़-गोबर कर दिया इन्होंने। मैंने तो राज कॉमिक्स उसी दिन से खरीदना छोड़ दिया था जिस दिन से नागराज की कॉमिक्स को अनुपम सिन्हा ने लिखना शुरू किया था। अनुपम सिन्हा बस ध्रुव के चरित्र के साथ ही इन्साफ कर पाते थे। नागराज की जो एक छवि थी विश्व-आतंकवाद के दुश्मन की, उसके साथ छेड़खानी करके इन्होंने खुद अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारी है।
    राज कॉमिक्स की विनाश-गाथा का मैंने एक छोटा सा अंश सुनाया है। इन्होंने अनगिनत गलतियां की हैं जिनका दुष्परिणाम ये आज भुगत रहे हैं। अब भी वक़्त बचा है। अपनी मौलिकता को वापस करके फिर से कॉमिक्स छपवायें, और देखें कि कैसे आपकी कॉमिक्स नहीं बिकती है।

    ReplyDelete
  72. Thanks man! searching Manoj comics (specially Uncle Charlie) from year but didn't found all yet.

    ReplyDelete
  73. Dear manoj bhai
    I am unable to read your uploaded manoj comics your new blog is for invited readers so please ad me so that i can read these fabulous comics my email address is
    ankush2rule@gmail.com

    ReplyDelete
  74. sir ji please invite me to your new blog
    my email address is ajay.ghatak@gmail.com

    ReplyDelete
  75. बहुत शार्ट में कुछ बाते रखता हु -
    चलो एक बार को मान ले की मनोज भाई और बाकि उपलोडर्स ने सारी कॉमिक्स हटा ली -
    1. तो क्या राज कॉमिक्स का फायदा हो जायेगा, उनकी सेल बढ़ जाएगी ?
    2. तो क्या वो हमे वे सारी कॉमिक्स (जो इन उपलोडर्स ने अपलोड की हैं ) राज कॉमिक्स वाले उपलब्ध करवा देंगे (फ्री या पैसे दे कर)
    3. बाकियों का तो नहीं पता, मैं ध्रुव, नागराज, डोगा etc का बड़ा फैन था, पर अब उनके नए घटिया कॉमिक्स मैं नहीं पढता (न पैसे दे कर न फ्री डाउनलोड कर के) क्योंकि वो पढ़ने की इच्छा ही नहीं | मैं तो पुराने क्लासिक कॉमिक्स ही पढता हु, और उन्ही के लिए इन ब्लोग्स पर आता हु |
    4. कॉपीराइट जताने से क्या होगा, ओरिजिनल कंटेंट खुद के पास नहीं है, बूता है तो सारा कंटेंट दिखाओ, उपलब्ध करवाओ और तब भी न ये ब्लोग्स हटें तो बोलना

    तब तक अपनी चूं चूं बंद रखो राज कॉमिक्स. ये लोग सिर्फ individuals हैं, तुम तो करोडो की कंपनी हो, कई लोगो की टीम है तुम्हारे पास | वैसे तो ये लोग लाखो कमा नहीं रहे Ads से, और अगर कमा भी रहे हैं तो तुम क्या इतने नपुंसक हो जो individuals से दर गए, जो ये लोग कर रहे हैं, वही तुम भी करो और करोडो कमा लो। खिसिआनि बिल्ली खम्बा नोचे वाली बेहूदा हरकत न करो |


    और एक बात जान लो, तुम तो फिर भी समाप्ति की कगार पे लुढ़कती हुई अदना सी कंपनी हो, और जिसे तुम Piracy कहते हो उसकी वजह तुम्हारी जैसी कम्पनीज का लालच ही है, और इससे तो तुम्हारे से १०० गुना बड़े दिग्गज (जैसे, DC, marvel, पूरा हॉलीवुड और बॉलीवुड etc) भी नहीं लड़ पाते, तुम्हारी क्या हैसियत है | असल बात ये है की आपको इंटरनेट की समझ नहीं , आप अभी भी 10 साल पीछे हैं | USA में ये बहुत पहले किया गया जो तुम आज कर रहे हो (ऑनलाइन शेयरिंग को रोकने की कोशिश ) पर ये solution नहीं है, अगर होता तो तुमसे १००० गुना बड़ी कंपनी ने कर लिया होता | इसलिए वो करो जो सही है, वो नहीं जो की लालच है, क्यों की लालच सही नहीं होता |

    ReplyDelete
  76. Brothers! Aaj youtube par shemaru, aur doosri companies ke channels hai, ji ke free me old movies, doosre contents provide kar rahe hai... Comic sharing mein kya burai hai? In publications ko bhi aisa nahin karna chahiye kya? Orignal frist time published content online ya offline free of cost dein... Is tarah se advertisement ka paisa un ki milega.. Aur old classic comic bhi preserve hi jayengi.. Kya aisa karna sahi nahin hoga?

    ReplyDelete
  77. Brothers! Aaj youtube par shemaru, aur doosri companies ke channels hai, ji ke free me old movies, doosre contents provide kar rahe hai... Comic sharing mein kya burai hai? In publications ko bhi aisa nahin karna chahiye kya? Orignal frist time published content online ya offline free of cost dein... Is tarah se advertisement ka paisa un ki milega.. Aur old classic comic bhi preserve hi jayengi.. Kya aisa karna sahi nahin hoga?

    ReplyDelete