Sunday, July 2, 2017

Nutan Comics-53- Mamaji aur Dracula


Download 10 MB
Download 34 MB
नूतन कॉमिक्स - ५३- मामाजी और ड्रैकुला
 नूतन कॉमिक्स अपने समय की बेहतरीन कॉमिक्स में से एक थी। भूतनाथ, अमर अकबर ,मामाजी, छुटकी आदि कई प्रमुख किरदार थे। पर जैसे की मै पहले लिख चूका हूँ। कि उस समय जब मैंने कॉमिक्स पढ़ना शुरू किया तो नागराज , सुपर कमांडो ध्रुव , राम रहीम , महाबली शेरा , चाचा चौधरी आदि की कॉमिक्स की भरमार थी। इन कॉमिक्स का प्रचार तंत्र बहुत मज़बूत था। यही कारण था की नूतन कॉमिक्स के अच्छे कहानियों के बाद भी जो स्थान पाठकों के मध्य मिलना चाहिए था वो इन्हे नहीं मिला। यहाँ तक मैंने भी इनकी ३० कॉमिक्स से काम पढ़ी थी उस दौर में। जब मनोज कॉमिक्स बंद हुयी तो कही जा कर इन कॉमिक्स पर ध्यान गया। कहानी चाचा चौधरी की कहानियों की तरह दो व तीन पन्नो की कई कहानियां है और आप को गुदगुदाने में पूरी तरह सफल है। पढ़े और आनंद लें।

 आज से हमारा स्कूल खुल गया। पहले ही दिन मेरे लिए खुशखबरी ले कर आया। जैसा की हर स्कूल का नियम होता है की पहले साल के गर्मियों की छुट्टी के पैसे स्कूल नहीं देते है। अगले साल से छुट्टियों के पैसे भी मिलने लगते है। स्कूल में मेरा पहला साल था तो मुझे जून के पैसे नहीं मिलने थे। परन्तु मेरे स्कूल ने इस साल से ये निर्णय लिया है की अब वो सभी को छुट्टियों की पैसे मिलेंगे चाहे उसे एक दिन ही क्यों नहीं हुवा हो। मतलब मुझे जून के पैसे मिलेंगे। ये मेरे लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है। स्कूल और स्कूल मैनजमेंट को तहे दिल से धन्यवाद।

 फिर जल्द ही मिलते है नहीं कॉमिक्स के साथ।

29 comments:

  1. CHALIYA MANOJ BHAI BEST OF LUCK FOR DA FUTURE

    ReplyDelete
  2. Manoj Bhai aapko khush dekh ke bahut accha lag raha hai we Wish u best of luck for u r future Thanks for this gem

    ReplyDelete
  3. Thanks a lot Manoj bhai for another gem. And congratulations for the additional amount

    ReplyDelete
  4. Thanks a lot Manoj bhai for another gem. And congratulations for the additional amount

    ReplyDelete
  5. Aap ke jeevan main aise sukhad pal aate rahe.
    Waise lagta hain raj Valle aap ke blog ko band hi kar denge. aaj hi Nutan bhi copyright main aa gaya. Hi hi hi

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks brother
      Ye blog kaun sa mujhe Khana deta hai.
      Ho jaye band.
      Waise hoga unse kuch nahi.
      20% comics to unke pass hai nahi.
      Hami se help maang rahe hai aur hami ke liye dhurt aur lalchi term use kar rahe Hai.
      Kar len jo karna Hai.
      I don't care

      Delete
    2. Magar yeh bhi ho sakta hain voh pyaaretoons aur Comics World Android app ki baat kar rahe ho. Ye dono toh fan ke naam par Raj ke comics bhi page by page daal rahe the taki page hits aur ad rates bade.

      Delete
    3. mujhe bhi yahi lagta hai.
      waise agar wo sabhi publication ko save kar lete hai to mera sapna apne aap pura ho jayega

      Delete
    4. Comic ke nu pages ki koi keemat nahin ho sakti jo humne first time padhe, wo extra pages jin me aane wali comics ke bare me hota tha, ya koi add hi hote the, mujhe lagta hai kisi comic ka reprint ko padhne ki jagah hamein us ka frist ya second addition padhne me jayada aanand milega.. So purani comics ka, (comics ke har page ke sath) digitisation hona hi chahiye. Aisi Shubhkamnayon ke saath
      - mk272717 from Moradabad

      Delete
    5. Comic ke nu pages ki koi keemat nahin ho sakti jo humne first time padhe, wo extra pages jin me aane wali comics ke bare me hota tha, ya koi add hi hote the, mujhe lagta hai kisi comic ka reprint ko padhne ki jagah hamein us ka frist ya second addition padhne me jayada aanand milega.. So purani comics ka, (comics ke har page ke sath) digitisation hona hi chahiye. Aisi Shubhkamnayon ke saath
      - mk272717 from Moradabad

      Delete
  6. Achche logo ke satha hamesha achcha hi hota he .

    ReplyDelete
  7. Sir I Waiting Set 150 Manoj Comics

    ReplyDelete
  8. लिंक्स नॉट वर्किंग

    ReplyDelete