Sunday, August 27, 2017

Prabhat Chitrakatha-Patharon Ki Nagri


Download 10 MB
Download 34 MB
प्रभात कॉमिक्स - पत्थरों की नगरी
 प्रभात कॉमिक्स की एक और शानदार कॉमिक्स। प्रभात कॉमिक्स, नीलम कॉमिक्स , नूतन कॉमिक्स,गोयल कॉमिक्स और पवन कॉमिक्स इन सभी में अगर कुछ कमी थी तो वो सिर्फ ये थी की ये अपनी कॉमिक्स का ठीक से प्रचार नहीं करते थे। वरना इनके चित्र और कहानी किसी भी पब्लिकेशन से ख़राब नहीं थी। बस इन्होने अपनी कहानियों का ठीक से प्रचार नहीं किया। पर ऐसा भी नहीं है की इन्होने बेचने पर ध्यान नहीं दिया था। इनका तरीका सीधा ग्राहक तक पहुंचने का था। इनकी लाइब्रेरी योजना मनोज कॉमिक्स , तुलसी कॉमिक्स और राज कॉमिक्स से कही बेहतर थी पर कम प्रचार होने के करण नए ग्राहक इन्हे कम मिलते थे। कहानी के लिहाज़ से कॉमिक्स अच्छी है। कहानी का कई हिस्सा मनोज कॉमिक्स की कुछ कहानियों से मिलता है अब ये कहना मुश्किल है की इस कॉमिक्स को कॉपी किया गया था या ये कॉमिक्स उन कॉमिक्स से प्रभावित है।
 कहानी शुरू होती है रानी द्वारा दो पुत्रों को जन्म देकर मरने से। राजा अपने बच्चों के लिए दूसरा विवाह न करने का निश्चय लेता है। परन्तु वो एक नीच कुल के स्त्री पर मोहित होकर विवाह कर लेता है। इसके बाद दोनों राज कुमारों को मरवाने के लिए नयी रानी जाल बुनती है और सफल रहती है राजा दोनों राज कुमारों को मौत की सजा सुनाता है। इसके बाद है वो तो आप को कहानी पढ़ कर ही पता लग पायेगा।
पिछले कुछ दिनों से जो घटनाक्रम कॉमिक्स ब्लॉग को लेकर चल रहा है वो चिंताजनक है। जिन लोगो ने पुरानी कॉमिक्स बचाने के लिए रात-दिन एक कर दिया था वो ही सबसे बड़े खलनायक साबित कर दिए गए। जिनमे से एक मै भी हूँ। फिलहाल कुछ बाते साफ़ है की ब्लॉग पर कॉमिक्स अपलोड चलता रहेगा। जिन कॉमिक्स के लिंक डिलीट हो गए थे लगभग वो सभी कॉमिक्स दुबारा से अपलोड कर दी गयी है परन्तु अभी उन्हें ब्लॉग पर अपडेट नहीं कर पाया हूँ वो भी जल्द ही कर दूंगा। मनोज कॉमिक्स के सीरियल नंबर १ से ११०० तक सभी कॉमिक्स अपलोड हो गए है अगले महीने तक अगर संभव हुवा तो पूरी मनोज कॉमिक्स नेट पर अपलोड हो जाएगी। मै अभी दूसरा ब्लॉग अपडेट नहीं कर रहा हूँ परन्तु जल्द ही उससे प्राइवेट करके फिर से सारे लिंक अपडेट कर दूंगा। आप सभी से अनुरोध करूँगा की मै इस ब्लॉग पर एक पेज बना रहा हूँ उस पेज पर कमेंट बॉक्स में जा कर अपना नाम और मेल आई डी लिख दें जिससे जब मै ब्लॉग को प्राइवेट करूँ तो उन्हें रिक्वेस्ट भेज सकू। संभव है की मै उस ब्लॉग के मेंबर सिप के लिए कुछ चार्ज करूँ। जिससे ब्लॉग को नुकशान पहुंचाने वाले लोगो से ब्लॉग को बचाया जा सके।
 जिनको मनोज कॉमिक्स जल्दी से चाहिए वो मुझे एक पेन ड्राइव +१०० पोस्टल भेज कर सभी कॉमिक्स मंगवा सकते है या भी आप मेरे ब्लॉग के अपडेट होने तक इंतज़ार कर सकते है। आप मेरे घर आकर भी इन सभी कॉमिक्स की सॉफ्ट कॉपी प्राप्त कर सकते है।
बस आप सब से एक ही अनुरोध है की जो मिसिंग कॉमिक्स अपलोड कर रहा हूँ उनके लिंक फ्री में न मांगे क्योंकि वो सभी कॉमिक्स मै खुद पैसे दे कर स्कैन करवा रहा हूँ।
आज के लिए इतना ही फिर जल्द ही नहीं कॉमिक्स के साथ दुबारा मिलते है।

41 comments:

  1. Manoj bhai! Ho sake to Manoj comic ke sath sath doosri comic bhi dene ki krapa karein. Vishesh kar diamond... Purani aur original comics.. aisa nahin ke maine unhein padha nahin, 80%-90% DC meri padhi hui hai lekin phir bhi unhin purane panno ko phir se palatne ko man karta hai, agar sambhav ho to. Thanks.

    ReplyDelete
    Replies
    1. मुकेश जी बचपन में मैंने भी डायमंड कॉमिक्स ही ज़्यादा पढ़ी है। कॉमिक्स से पहचान ही डायमंड कॉमिक्स से ही हुई। पर अफ़सोस की डायमंड कॉमिक्स के लिंक सब मिटा दिए गए है। आपकी जानकारी में डायमंड कॉमिक्स के लिंक कही पर उपलब्ध हो तो बताइयेगा। 9335291027

      Delete
    2. Shayad hi kahin bhuli bisri jagag koi DC ka Link ho, aap ki baat sahi hai kuchh mahino pahle sabhi DC ke lenk hata diye hai, DC publications ke objection ke Karan.... Waise mere pas bahut si DC hai Link hatne se pahle Download ki Hui... Lekin un mein se bahut kam hain jin ko hum DC ka Golden Period kah sakte hai.. Mere khayal se Ankur 1 ke prasashan se Ankur 55-60 tak DC ki Best coic prakashit hui hain..

      Delete
    3. Shayad hi kahin bhuli bisri jagag koi DC ka Link ho, aap ki baat sahi hai kuchh mahino pahle sabhi DC ke lenk hata diye hai, DC publications ke objection ke Karan.... Waise mere pas bahut si DC hai Link hatne se pahle Download ki Hui... Lekin un mein se bahut kam hain jin ko hum DC ka Golden Period kah sakte hai.. Mere khayal se Ankur 1 ke prasashan se Ankur 55-60 tak DC ki Best coic prakashit hui hain..

      Delete
    4. Mukesh ji
      जो भी DC कॉमिक्स मिल जाये मुझे स्वीकार्य है। अगर शेयर कर सकें तो बड़ी कृपा होगी।
      933529017, nikneo@gmail.com

      Delete
  2. Manoj bhai! Ho sake to Manoj comic ke sath sath doosri comic bhi dene ki krapa karein. Vishesh kar diamond... Purani aur original comics.. aisa nahin ke maine unhein padha nahin, 80%-90% DC meri padhi hui hai lekin phir bhi unhin purane panno ko phir se palatne ko man karta hai, agar sambhav ho to. Thanks.

    ReplyDelete
    Replies
    1. jarur jo bhi comics mere pass hai chahe wo hard copy me ya soft copy me unhe jald hi upload kar dunga

      Delete
    2. Mere pas kuchh DC aapke blog se dwonload ki hui bhi hai. Jaisa aapne pahle kaha ki aapke computer ki hard disk crupt hone se aap ka comic ka data kharab ho gaya hai... Main aap ko un ke link send kar dunga... Waisa mere pas jo bhi comic hai sub ko hi drive par upload karna chah raha hu... Bus thodi waqut ki kami hai..

      Delete
    3. भाई मुकेश जी मुझे भी लिंक्स भेज दीजिये। बड़ी कृपा होगी।
      निखिल-9335291027,nikneo@gmail.com

      Delete
    4. Jaroor... Bus thoda samay lagega... Jo bhi mere pas hai sub ko upload kar ke link send kar dunga, aapka no. Maine save kar liya hai, aur manoj bhai ka to pahle hi save hai... Mera aap se aap.. sabhi se anurodh hai ke jis ke pas jo bhi material ho share kare... Thanks.

      Delete
    5. बहुत बढ़िया। आप मुझे अपना contact msg कीजिये मैं आपको कुछ लिंक्स भेजता हूँ जो मेरे पास है।

      Delete
    6. This comment has been removed by the author.

      Delete
  3. बहोत बहोत धन्यवाद् मनोज जी !!!!!

    ReplyDelete
  4. Manoj bhai kya aap Tulsi comics jambu ki shatranj ka link send kar sakte hai Kya.

    ReplyDelete
    Replies
    1. brother meri jankari ke anusaar ye comics publish nahi huyi hia

      Delete
    2. Yeh comics mere pass available hai

      Delete
  5. भाई हम आपके ब्लॉग का इंतजार करेंगे जो भी चार्ज होगा हम आपको paytm कर देंगे ।
    भाई हमने आपके ब्लॉग पर फ्री में विजिट किये हैं, अब समय आया है कुछ देकर कुछ लेने का ।
    जब अपडेट हो जाये तो बता देना।
    वैसे मेरा इमेल है
    Rameshkamalpatre@gmail.com

    ReplyDelete
  6. Ritesh yadav ritz.don2008@gmail.com

    ReplyDelete
  7. KUMAR ASHUTOSH NARAYAN
    ashutoshnarayan13@gmail.com

    ReplyDelete
  8. बहुत बढ़िया मनोज जी। nikneo@gmail.com

    ReplyDelete
  9. namaste manoj sir ji aapko koi bhi tulsi, raj, manoj comics chahiye toh aap mujhe mail kar sakte hai main aapke kisi kaam aa saku mujhe khushi hogi

    ReplyDelete
    Replies
    1. भाई जी आपके पास जो भी कॉमिक्स है कृपया शेयर कीजिये। google drive पर upload करके लिंक शेयर कीजिये। nikneo@gmail.com

      Delete
  10. meri mail id hai singhisking9922@gmail.com

    ReplyDelete
  11. Avlender Yadav
    yaduvanshi.av@gmail.com
    mobile - 9717333432

    ReplyDelete
  12. Mere mail I'd h udeshyamodi1111@gmail.com

    ReplyDelete
  13. sorry nikhil bhai 5000 ke kareeb comics hai piracy ke chalte sabhi upload karna sambav nahi hai aapko jo jyada jaruri chahiye mujhe mail kardo woh send kar dunga

    ReplyDelete
    Replies
    1. Bhai kya aap ke pas Diamond ki comics bhi hai? Kya un ko share kar sakte ho?

      Delete
  14. Yatendra kumar delhi ykumar517@gmail.com

    ReplyDelete
  15. APKA DUSRA BLOG PRIVATE BATA RAHA HAI BHAI. KINDLY SEND INVITATION
    KUMAR ASHUTOSH NARAYAN
    ashutoshnarayan13@gmail.com
    PATA NAHIN YA SAB PROBLEM KAB TAK THEEK HOGA???

    ReplyDelete
  16. hi manoj bro, kaise hein...
    please send in invite to RohitRastogi1@gmail.com

    ReplyDelete
  17. Manoj Bhai namaskar please send me invite to lalitbalakumar@gmail.com

    ReplyDelete
  18. Manoj Bhai Manoj comics ki hard copy provide nahi ho sakti h please guide me I want to purchase some old Manoj comics

    ReplyDelete
  19. Manoj Bhai Manoj comics ki hard copy provide nahi ho sakti h please guide me I want to purchase some old Manoj comics

    ReplyDelete
  20. My email address is Rajrose.tripathi@gmail.com

    ReplyDelete
  21. Jio maigjeen Mei DC ki bahut si camics uplode hai

    ReplyDelete